जीजा साली शायरी | jija sali shayari hindi


जीजा साली शायरी | jija sali shayari hindi

JokesShayari.com के इस पोस्ट में आपका स्वागत है। इस पोस्ट में हमने खास jija sali shayari लेकर आए हैं।
आप इसे jija sali ka sayari भी कह सकते है.
मुझे पक्का यकीन है आपको जरूर पसंद आएगा। आपको पसंद आये तो आप "जीजा साली शायरी"  को Whatsapp, facebook, Twitter,  पर शेयर जरूर करे.


वो नजर मिलते ही मुस्कुराती है, फिर धीरे से नजरे झुकाती है, ऐसी भी क्या अदा है साली तुझमे, मिलते ही मेरे दिलो जान पर छा जाती है।


कहा बजती है एक हाथ से ताली, अब पुरानी हो चुकी है मेरी घरवाली, इस बार होली पर रंग लगाने के लिए, मुझे चाहिए सिर्फ मेरी प्यारी साली।

jija sali ka sayari


जब से तुम्हारी दीदी मुझसे दूर हुई, तुम मुझसे प्यार करने पर मजबूर हुई, अब और ना तड़पाओ दिल धड़कता है, मेरे इस दिल में प्यार का शोला भड़कता है।


मेरे दिल के दर्द की दावा क्या दोगे, इतने नासमझ हो फिर प्यार क्या करोगे, एक दिन जब तुमसे हो जायेंगे दूर, तब प्यार करने पर हो जाओगे मजबूर।

jija sali shayari hindi


साली ने पहली मर्तबा मिनी स्कर्ट पहनी और जीजा से कहा,,, “जीजू ज़रा देखो तो, झुकने से मेरी अंडरवियर तो नहीं दिखती?” जीजा…जी काफी देर तक देखने के बाद बोले,,, “नहीं दिख रही,पर अगली बार याद से पहन लेना”


जीजा और साली की आपसे में बात चल रही थी. उसी समय जीजा अपनी साली से एक सवाल पूछा कि… अच्छा साली साहेबा आप ये बताओ कि रात और सुहागरात में क्या अंतर होता है ? साली: सही बात बोलू तो सुहागरात में हमें केवल अपने पति/पत्नी के साथ सोना होता है, जबकि अन्य रातों में इस पर कोई पाबन्दी नहीं होती है.

जीजा साली शायरी


हुस्न तो दिया ऐ खुदा तुमने, हाय इस काली जुल्फों वाली को, काश तुमने दिया होता दिल भी, हमारी इस प्यारी सी साली को…


हाय टकरा गया साली से, चेहरे पर बहार आ जाती है, जब साली हाथ बढ़ाती है, बीबी अपनी जल जाती है…

jija sali shayari


इतिहास साक्षी है – बेटी की विदाई के समय इतना दुख उसके पिता को भी नही होता… जितना उसके जीजाजी को होता है… ???


सता: यार बता साली और बीवी मे क्या अतर होता है? बता: देख भाई साली ब्यूटी होती है तो बीवी डयूटी, साली पेशन की तरह होती है और बीवी टेशन की तरह.

jija sali shayri


क्राइम पेट्रोल वालो ने जीजा साली के रिश्तों को इतना शक के घेरे में ला दिया है ... कि आजकल सालियों ने जूते चुराना भी छोड़ दिया हैं.

Post a Comment